Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Savan Shivratri 2020: सावन में शिवजी के भजन।  भोले के भजन हिंदीं में | Bholenath Bhajan Lyrics Savan me

Savan Shivratri 2020: इस वर्ष सावन का पवित्र महीना 6 जुलाई 2020  से आरम्भ हो गया है। इस सावन की एक खास बात यह भी है की इस बार सावन का महीना सोमवार से शुरू हुआ है। सावन का महीना और सोमवार का दिन शिवजी को बहुत प्रिय है।  इसलिए 6 जुलाई का दिन बहुत शुभ है। सावन के महीने में सोमवार को शिव जी की पूजा अर्चना से व्यक्ति के सभी कष्ट दूर हो जाते है। इस महीने में भोलेनाथ के भक्त उन्हें खुश करने के लिए भोलेनाथ के भजन भी गाते है।  
चलिए फिर पढ़ते है शिव जी भजन लिरिक्स हिंदी में 

Shivji Bhajan Hindi me: Sawan Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

भोले अपनी भक्ति में मुझे भी लगा दो

भोले अपनी भक्ति में मुझे भी लगा दो
भटका हूँ भोले मुझको मार्ग दिखा दो

सुनता हूँ भोले तुम हो न्याय करैया 
पर लगा दे भोले सबकी ही नैया
मेरी भी मैया भोले पार लगा दो
भोले अपनी भक्ति में मुझे भी लगा दो। 

द्वेष भाव के मन में मेरे है अंधेरे 
घेर रहे ये मुझको चोर लुटेरे 
डरता हूँ, इनको मेरे मन से हटा दो
भोले अपनी भक्ति में मुझे भी लगा दो। 

भोले मुझको पापों ने मेरे है मारा
काम क्रोध का भोले करो निस्तारा 
भक्ति का मन में भोले भाव जगा दो 
भोले अपनी भक्ति में मुझे भी लगा दो। 

माथे पै तेरे मैं भभूत मलूंगा
माला की निशिदिन तेरी जाप करूँगा
सर पै मेरे भोले अपना हाथ टिका दो
भोले अपनी भक्ति में मुझे भी लगा दो। 
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Bholenath ke Bhajan Hindi me: Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics


आपने मन से भुला न देना

मुझको दिन समझकर भोले 
अपने मन से भुला न देना|

मेरे उलझे-उलझे मन में हरदम रहती चाह तुम्हारी 
तुम मानो या ना मानो मैं देखा करती रह तुम्हारी 
जिस दिन तुम आओ इस घर में मुझे नींद में सुला न देना 
मुझको दिन समझकर भोले अपने मन से भुला न देना।

तुम्हें   देखने   को   हैं  मैंने   जाने   कितने  दीप   जलाये 
कितने  व्रत रखे मैंने तब देखा  कुछ-कुछ तुम मुस्कुराये 
रहूं   स्वप्न  में  तुम्हें   देखते  मेरे   सपने   भुला   न   देना 
मुझको दिन समझकर भोले अपने मन से भुला न देना। 

मैं एक दिन देखा तुमको पीताम्बर रहने आये हो 
चाँद चमक रहा माथे पर माला सर्प की लिपटाये हो 
साथ नदिया मुस्काता हैं मैं से दृश्य हटा न देना 
मुझको दिन समझकर भोले अपने मन से भुला न देना। 

छल पापों से भरी है दुनियां तुम ही मेरे रखवाले हो 
चरणों में ले लो मुझको भी भोले तुम डमरू वाले हो 
करती पूजा रोज तुम्हारी मेरी पूजा भुला न देना 
मुझको दिन समझकर भोले अपने मन से भुला न देना। 
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Savan me padhe Bhole ke Bhajan: Savan Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

उमा के पति मेरे स्वामी 

उमा के पति मेरे स्वामी तुम्हारी शरण में आया हूँ
चढ़ाने को शिवाले पर तुम्हारे, जल मैं लाया हूँ। 


मुझे भक्ति दो तुम अपनी मैं भक्ति मांगने आया हूँ 
तुम्हारे प्रेम मंदिर में मैं भोले झांकने आया हूँ। 
छुड़ा दो मुझको पापों से मैं पापों का सताया हूँ 
उमा के पति मेरे स्वामी तुम्हारी शरण में आया हूँ। 


सुना है तुमने भक्तो को सदा दी है शरण स्वामी 
दुखारी मैं भी हूँ भोले भरो मुझसे भी तुम हामी। 
हूँ मैं भी चाहता स्वामी, तेरे चरणों का साया हूँ 
उमा के पति मेरे स्वामी तुम्हारी शरण में आया हूँ। 


सवारी तुमको दे करके बहुत नन्दी ने सुख पाया 
सजा माथे पै अपने को बहुत चंदा है हर्षाया 
मैं तुमसे दूर रह स्वामी बहुत मन में लजाया हूँ 
उमा के पति मेरे स्वामी तुम्हारी शरण में आया हूँ। 


जगा दो भाव श्रद्धा के जो मैं काँवर भरी लाऊँ 
तुम्हें धा करके पैदल ही चढ़ाकर तुम पै जल आऊँ 
तुम्हारी प्रेम ज्योति का पतंगा बनके आया हूँ 
उमा के पति मेरे स्वामी तुम्हारी शरण में आया हूँ। 
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Savan ke pavan avsar par Bhole ke Bhajan in Hindi: Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

काशी के बाजार में

भक्तों काशी के बाजार में है विश्वनाथ का मंदिर।

जो हैं भक्ति का आधार, जानो श्रद्धा ज्ञान समंदर
भक्तों काशी के बाजार में है विश्वनाथ का मंदिर।

भोले का दरबार यही है
गौरा का श्रंगार यही है
पूजा का आधार यही है

भैरों  इसके  पहरेदार, बिना पूछे  ना  जाना अंदर
भक्तों काशी के बाजार में है विश्वनाथ का मंदिर।

गंगा जी का घाट यही है
साधु संत का साथ यही है
पूजा का हर श्वास यही है

गौरी जी का सच्चा प्यार और  नन्दी की भक्ति सुन्दर
भक्तों  काशी के बाजार में  है  विश्वनाथ  का मंदिर।

सोने  जैसा  चमक रहा है
हीरे  जैसा दमक  रहा  है
भक्तों से जो चहक रहा है

शिव भक्ति का है सार बस्ते शिव हैं जिसके अंदर
भक्तों काशी के बाजार में है विश्वनाथ का मंदिर।

पूजा और  विश्वास यही  है
शिव का सच्चा वास यही है
शक्ति  का आकाश  यही है

शिव की पूजा का हर ज्ञान मिल जाता है जिसके अंदर
भक्तों  काशी के बाजार  में  है विश्वनाथ  का मंदिर।
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Lord Shiva images HD: Lord Shiva Images| Shivji Image HD Downloads for Mobile Wallpapers.

Shivji Bhajan Lyrics in Hindi: Savan Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics


कैलाश पति त्रिपुरारी

शिवशंकर भोले नाथ दीन हितकारी 
दुःख हरो मेरा कैलाश पति त्रिपुरारी। 

दिया   अमृत    सबको  बाँट तुम्हारी माया
विष        पीकर  खुद है नीला कंठ  कराया
भक्तों    का   कष्ट हरते हो सदा सुखकारी
दुःख हरो   मेरा   कैलाश पति त्रिपुरारी।

जिसने  जो  माँगा  दे  भोले  कहलाये
तन    में अपने तुम रहो भभूत रमाये
भक्तों   के क्षण में देते संकट टारी
दुःख हरो  मेरा कैलाश  पति  त्रिपुरारी।

है     भक्त तुम्हारे   तुम से पूरा पाते
तुम सब          कुछ देकर भंग धतूरा खाते
हम क्यों ना जाये हे शिव तुम पर बलिहारी 
दुःख     हरो मेरा कैलाश पति त्रिपुरारी।

है    देव सभी    यश  गान  तुम्हारा करते
ब्रह्मा      भी है सम्मान तुम्हारा करते
दिनों     के तुम ही हो  'मुकेश'  रखवाली
दुःख     हरो मेरा कैलाश पति त्रिपुरारी।
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics


Shivji Bhajan Lyrics in Hindi: Sawan Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics


भोले आया शरण तुम्हारी 

भोले आया शरण तुम्हारी 
रख लो लाज मेरी त्रिपुरारी।  

दम्भी मूरख और अविवेक, मुझमें भरे हैं खोट अनेक 
तुमसे मेरी है ये टेक, बुद्धि दे दो अपनी प्यारी
भोले आया शरण तुम्हारी 
रख लो लाज मेरी त्रिपुरारी।  

मैं हूँ भिक्षुक तुम हो दाता, भोले तेरा दिया हूँ खता
विनती सुन लो मेरी विधाता, भक्ति दे दो है त्रिपुरारी 
भोले आया शरण तुम्हारी 
रख लो लाज मेरी त्रिपुरारी।  

दीनों के तुम हो रखवाले, तुमने सब के काज संभाले
मुझे भी अपना दास बना ले, सेवा का मैं भी अधिकारी 
भोले आया शरण तुम्हारी 
रख लो लाज मेरी त्रिपुरारी।  
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics



Shivji Bhajan in Hindi: Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

भोले आया तेरे द्वार

सुनता माथे पै है चंदा
देखना चाहे तेरा बन्दा
मुझको दो स्वामी अनंदा
दर्शन दो अपने त्रिपुरारी, भोले आया तेरे द्वार। 

सुनता गले सर्प की माला
पीते प्रभु भंग का प्याला 
डमरू बजता अजब निराला
जटा में है गंगा की धार, भोले आया तेरे द्वार। 

नंदी की तुम करो सवारी
संग में रहतीं गौरा प्यारी 
बनकर आया तेरा भिखारी
भक्ति दो झोली में डार, भोले आया तेरे द्वार।
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Savan me Padhe Bholenath ke Bhajan in Hindi : Shivratri 2020

Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

मेरी भी पार लगा दो भोले नैया 

भोले बाबा तुम हो सारे जग के रखैया
मेरी भी पार लगा दो भोले नैया। 

स्वर्ग से आयी जब धरा पै भोले गंगा
भागीरथ का किया भोले, तुमने मन चंगा
भाव सागर से सबको पार करैया 
मेरी भी पार लगा दो भोले नैया। 

सागर मंथन पर तो सब हर्षाये 
निकला ज़हर तो भोले सब घबराये
तुम ही बने तब भोले विष के पिवैया 
मेरी भी पार लगा दो भोले नैया। 

राम सहायक बांके तुम ही थे आये 
हनुमत रूप में तुम ही थे धाये
तुम ही हो भोले सबकी धीर धरैया
मेरी भी पार लगा दो भोले नैया। 

काम, क्रोध ने भोले मुझे है सताया
दूर करो हे भोले दे, अपना साया
तुम ही हो स्वामी मेरे दुःख के मिटैया 
मेरी भी पार लगा दो भोले नैया। 
Shivji Bhajan lyrics , Bhole ke bhajan, bholenath ke bhajan lyrics

Shivji Bhajan Lyrics in Hindi Downloads 

Savan ke iss pavan avsar par padhe Bhagwan Shivji ke Bhajan.
Bholenath ke Bhajan Lyrics in Hindi.
Sawan Shivratri 2020 me padhe Bhole ke Bhajan or is Shivratri kare Bholenath ko prasann.


यह भी पढ़े 

Post a Comment

नया पेज पुराने